fbpx
Home / स्वास्थय / सर्दियों में गुड़ खाने के क्या फायदे फायदे और नुकसान होते है

सर्दियों में गुड़ खाने के क्या फायदे फायदे और नुकसान होते है

आज हम बात करेंगे ऐसे ही आसानी से मिलने वाले खाद्य पदार्थ ‘गुड़’ की। आज हम आपको अपने इस पोस्ट में ‘गुड़’ के लाभकारी गुणो को बताएँगे और साथ में इसका कैसे सेवन करें? जिससे हमारे शरीर को लाभ मिल सके। साथ ही इसके अनियमित रूप से सेवन करने से क्या समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं? एवं इसका सेवन कब लाभकारी होगा? यह बताएँगे।

सर्दियों में गुड़ का सेवन लाभकारी – अक्सर सर्दियों के मौसम में कब्ज और वात जैसी समस्या काफी बढ़ जाती है। जिससे हमें बहुत परेशानी उठानी पड़ती है और हमेशा दवाइयों का सहारा लेना पड़ता है। पर क्या दोस्तों आप जानते हैं कि हमारे रसोई घर में कई ऐसे खाद्य पदार्थ होते हैं जिनके नियमित उपयोग से बहुत सी बीमारी हमारे पास नहीं आती है। आवश्यक है हमे इन चीजों का सही से जानकारी हो।

गुड़ की हमारे शरीर के लिए गर्म होती है इसलिए सर्दियों में इसका सेवन लाभकारी माना जाता है। इसमें कई ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो शरीर के तापमान को भी नियंत्रित करता है। पेट की समस्याओं से राहत दिलाता है एवं कब्ज से निजात दिलाता है। और दिलचस्प बात यह भी है कि इसके सेवन से शरीर में ख़ुशी का एहसास दिलाने वाले हार्मोन के स्राव में भी मदद मिलती है। तो चलिए एक नजर डालते हैं गुड़ के गुणों पर जिसकी जानकारी से हमें लाभ पहुंच सकता है ।

सर्दी जुकाम में आराम – गुड़ हल्दी और देसी घी को साथ में गर्म करके खाने से कफ में राहत मिलती है। आवाज भी साफ होती है । अदरक के रस को गुड़ के साथ गर्म करके खाने से गले की खराश और कफ में राहत मिलती है। दूध और चाय में भी चीनी की जगह गुड़ डालकर सेवन कर सकते हैं।

उच्च रक्तचाप में फायदे – गुड़ में पोटैशियम और सोडियम भी अच्छी मात्रा में होती है। पोटेशियम और सोडियम हमरे शरीर में मौजूद एसिड को कम करने में मदद करता है। जिससे रक्त कोशिकाओं को स्वस्थ रखने और खून के संचार को सही रखने में मदद मिलती है।

आयरन से भरपूर – गुड में लौह तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं यही कारण है कि खून की कमी से पीड़ित रहने वालों को इसके नियमित सेवन की सलाह दी जाती है। थकान महसूस होने पर गुड़ खाने से शरीर को तुरंत ऊर्जा प्रदान होता है।

त्वचा की सफाई – गुड शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकालता है और खून की अशुद्धियां दूर करता है जिससे त्वचा चमकदार होती है। और त्वचा संबंधी कई अंदरूनी समस्या भी ठीक हो जाती है। इसे स्क्रीन क्लीनर भी कहा जाता है।

पाचन में लाभकारी– गुड आसानी से पचने वाला एक सुपाच्य खाद्य पदार्थ है। फाइबर से भरपूर होने के कारण कब्ज में भी आराम देता है। जिन्हें भूख नहीं लगती उनके लिए गुड़ खाना अच्छा रहता है। भूख खुलती है और पाचन तंत्र भी ठीक होता है। खाने के बाद थोड़ा सा गुड़ खाने से पेट संबंधी कई गड़बड़ियां से राहत मिलती है।

वजन काबू में रखना – मोटापे से पीड़ित लोगों के लिए चीनी की तुलना में गुड़ का सेवन ज्यादा बेहतर होता है। शरीर में जमा अतिरिक्त वसा को खत्म करने में भी यह सहायक माना जाता है। पोटैशियम या इलेक्ट्रोलाइट के स्तर को काबू में रखता है। शरीर में पानी जमा होने की परेशानी में भी आराम देता है।

गुड़ का सेवन इस प्रकार कर सकते हैं –
1. गुड़ के एक टुकड़े के साथ अदरक या सोंठ खाना भी जोड़ों के दर्द से राहत देता है ।

2. गुड़ में काले तिल को मिलाकर बनाए गए लड्डू का का सेवन सर्दियों में अस्थमा के अटैक और सांस लेने में होने वाली दिक्कत में राहत पहुंचाता है।

3. खाने के बाद थोड़ा सा गुड़ खाने से एसिडिटी नहीं होती है। पाचन संबंधी गड़बड़ियां भी कम होती है।

4.महावारी में अधिक दर्द रहने से भोजन के साथ गुड़ का सेवन नियमित रूप से करना दर्द में राहत पहुंचाता है।

कोई भी चीज का सेवन पूरी जानकारी के साथ नियमित रूप से करना चाहिए। जानकारी के अभाव में किसी चीज का अधिक सेवन या कम सेवन या और असमय सेवन से हानि भी पहुंच सकता है। उसी तरह गुड़ का सेवन भी पूरी जानकारी के बाद ही नियमित रूप से करें तो उनके गुणों का हम भरपूर लाभ उठा पाएंगे। गुड़ का सेवन करते समय कुछ सावधानियां रखनी चाहिए।

जैसे- अधिक गुड़ खाना नुकसान भी कर सकता है। इसलिए इसे आहार विशेषज्ञ की सलाह के बाद ही नियमित रूप से सेवन करे।

सावधानियां –
1. गुड़ खाने से वजन बढ़ सकता है ।

2. गर्मी के दिनों में बहुत मात्रा में गुड़ खाना जलन और अपच करा सकता है ।

3. मधुमेह के रोगियों को इससे परहेज करना चाहिए ।

4. जिस किसी को भी रक्त से जुडी कोई समस्या हो या लो-ब्लड प्रेशर या हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो उन्हें इसका सेवन डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिए.

Check Also

करेले के रस के यह फायदे जानकर आप भी रह जायेंगे दंग, तो आइये जानते है

करेला जूस पीने के फायदे बहुत हैं दोस्तों. बिटर गॉर्ड या करेला एक चिकित्स्कीय औषधि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *