fbpx
Home / त्यौहार-व्रत

त्यौहार-व्रत

मोक्षदा एकादशी व्रत की विधि, कथा, आरती और विशेष महत्त्व

सनातन हिन्दू धर्म में मोक्ष को मनुष्य जीवन का लक्ष्य माना जाता है आत्मा कर्म अनुसार मनुष्य जीवन पाती है इसका मुख्य उद्देश्य सत्कर्म कर मोक्ष की प्राप्ति है इसलिए मानव जीवन को अन्य योनियों में सबसे अधिक महत्त्वपूर्ण माना गया है। मान्यता है कि मोक्ष प्राप्त किए बिना मनुष्य …

Read More »

जानिये विस्तार से “मलमास” क्या होता है और कब लगता है

सूर्य के बृहस्पति की धनुराशि में गोचर करने से खरमास, मलमास शुरू होता है । यह स्थिति मकरसंक्रान्ति तक रहती है। इस कारण मांगलिक कार्य नहीं होते है। जैसे ही सूर्य धनु राशि में प्रवेश करता है तभी से मलमास आरम्भ हो जाता है और इसी के साथ शादी विवाह …

Read More »

शिव लिङ्गाष्टकम स्त्रोत भावार्थ सहित, करें शिव लिंग को प्रणाम

मित्रो आज सोमवार है और जैसा की हम सभी जानते है की आज का दिन भगवान शिव को समर्पित होता है, इसलिए आज हम आपको शिव लिङ्गाष्टकम स्त्रोत का पाठ उसके भावार्थ सहित बतायेगें और शिव लिंग को प्रणाम कर भगवान शिव की कृपा पायें! तो आइये जपते है भगवान् शिव …

Read More »

सोलह सोमवार व्रत के पीछे क्या है पौराणिक महात्म्य

सोलह सोमवार का व्रत  के पहले सोमवार से शुरू किया जाता है। कहते हैं इस व्रत को 16 सोमवार तक श्रद्धापूर्वक करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। आइए जानें सोलह सोमवार की व्रत कथा- एक समय की बात है पार्वती जी के साथ भगवान शिव भ्रमण करते हुए धरती …

Read More »

व्रत रखना या उपवास रखना हमारे शरीर के लिए क्यों है महत्वपूर्ण

हिन्दू धर्म में व्रत रखने का बहुत महत्व है। लोग, खासतौर पर महिलाएं अपनी अपनी श्रद्दा और आस्था के अनुसार अलग अलग देवी, देवताओं को मानते हैं और उनकी पूजा करते हैं। और फिर सप्ताह में एक दिन, या खास मौको या त्योहारों पर अपने देवी देवताओं के लिए व्रत …

Read More »

देवोत्थान एकादशी 19 नवम्बर 2018

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को प्रबोधनी या देवोत्थान एकादशी कहते हैं। इसी दिन भगवान विष्णु चार मास के विश्राम के बाद जागते हैं। इस वर्ष देवोत्थान एकादशी दिनांक *19 नवंबर दिन सोमवार* को है। इस दिन भगवान के आगमन की खुशी में उनकी माता लक्ष्मी सहित पूजा …

Read More »

दीपावली के यह पांच पर्व, लक्ष्मी कृपा हेतु अवश्य करें यह सरल उपाय

दीपावली के यह पांच पर्व होते हैं धनतेरस, चतुर्दशी, दीपावली, गोवर्धन पूजा, यम दितिया । इन पांचों दिन दीपक (चार छोटे और एक बड़ा) जरूर जलाएं। दीपक रखने से पहले उनका आसन बिछाएं फिर खील, चावल कि ऊपर दीपक रखें। इससे घर में धन की सदा आमद बनी रहेगी। दीपावली …

Read More »

जानिये आखिर क्योँ मनाई जाती है नरक चतुर्दशी

नरक चतुर्दशी का पर्व कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाया जाने वाला एक त्यौहार है। धार्मिक और पौराणिक महत्व की वजह से हिंदू धर्म में नरक चतुर्दशी का बड़ा महत्व है। यह पंच पर्वों की श्रृंखला के मध्य में पड़ने वाला त्यौहार है। नरक चतुर्दशी पर यमराज …

Read More »

जानिये क्या है विशेष महत्त्व है गुरु पूर्णिमा का

प्राचीन काल की बात है. किसी राज्य में एक बड़ा प्रतापी और दानी राजा राज करता था. वह प्रत्येक गुरुवार को व्रत रखता एवं भूखे और गरीबों को दान देकर पुण्य प्राप्त करता था, परंतु यह बात उसकी रानी को अच्छी नहीं लगती थी. वह न तो व्रत करती थी, …

Read More »

जानिये नवरात्रि की देवी मां नवदुर्गा के नौ अवतार और क्योँ पड़ा नाम

पौराणिक शास्त्रों के अनुसार नौ अवतार कैलाश पर्वत के ध्यानी की अर्धांगिनी मां सती पार्वती को ही शैलपुत्री‍, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कूष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायिनी, कालरात्रि, महागौरी, सिद्धिदात्री आदि नामों से जाना जाता है। इसके अलावा भी मां के अनेक नाम हैं जैसे दुर्गा, जगदंबा, अंबे, शेरांवाली आदि। इनके दो पुत्र हैं गणेश …

Read More »